Home देश मोदी सरकार से भिड़ने का मिला जवाब

मोदी सरकार से भिड़ने का मिला जवाब

SHARE

सुप्रीम कोर्ट ने कई दिनों से ऐसे फैसले सुनाये है जिससे लोगों को हैरान कर रखा है. इसके कारण लोगों को समझ नहीं आ रहा है की जजों को लाखों रुपये किस लिए दिए जाते है? राष्ट्रपति कोविंद ने हाल ही में बताया देश में करीब ३.३ केस लंबित पड़े है.

सभी लोगों के मन में था की कश्मीर धरा ३७० पर फैसला आनेवालाहै लेकिन कोर्ट ने धारा ३७७ पर फैसला सुनाया।इसके मुताबिक़ दो समलैंगिक लोगों में बने सम्बन्ध अपराध के दायरे से बाहर होंगे।यहाँ से समलैंगिक सबंधों को अलैंगिक नहीं माना जाएगा।सुप्रीम कोर्ट ने कई दशकों के बाद यह फैसला सुनाया है.

खबरों के रिपोर्ट्स के मुताबिक़ सुप्रीम कोर्ट के जज ने चंद्रचूड़ ने धारा ३७७ जैसे संवेदनशील मामले में फैसला कोर्ट के विवेक पर छोड़ने के लिए उलटा मोदी सरकार की ही आलोचना की.चंद्रचूड़ ने कहा की आये दिन राजनेता अपनी जिम्मेदारी छोड़कर कोर्ट को शक्ति दे रहे है.जज चंद्रचूड़ उन पांच सदस्यों में एक है जिन्होंने समलैंगिकों के सबंधो को अपराध से बाहर किया।नॅशनल लॉ यूनिवर्सिटी के १९ वे वार्षिक व्याख्यान में जस्टिस चंद्रचूड़ ने कहा की राजनेता अपनी शक्ति जजों को दे रहे है.

कोर्ट हमेशा मोदी सरकार पर निशाना करता है.जब अवैध रोहिंग्या को बाहर निकालनी की बात आयी तब कोर्ट ने फैसला सुनाने के बजाय मोदी सरकार पर टाल दिया। जब राममंदिर पर फैसला सुनाने का वक्त आता है तब कोर्ट तारीख बढ़ा देता है.इसमें कोर्ट ७०% हिन्दुओं के आस्था को भूमिविवाद का नाम देता है.कोर्ट ने कश्मीर के 35A के सुनवाई सीधे अगले साल पर टाल देती है तब कोर्ट का विवेका कहा जाता है.सुप्रीम कोर्ट ने एलजीबीटी लोगों के समुदाय के लिए कई देशों के अदालतों का हवाला लेकर फैसला लिया।

इस मामले में १६६ पन्नों का फैसला लिखकर मुख्य न्यायाधीश दीपक मिश्रा और न्यायाधीश खानविलकर ने इसी तरह आदेश पारित किया।आज कोर्ट विवेक और समानता की बात करता है लेकिन कोर्ट का विवेक कहा गया था जब निर्भया कांड के दरिंदे आरोपियों को सिर्फ एक साल की उम्र में छोटा होने पर नाबालिग बताकर आजाद किया था.

वीडियो:इस वीडियो में मोदी ने जो किया है, वो राहुल गाँधी चाहकर भी कभी नहीं कर पाएंगे

narendra modi in england

इस वीडियो में मोदी ने जो किया है, वो राहुल गाँधी चाहकर भी कभी नहीं कर पाएंगे

Posted by NAMO TV on Friday, September 7, 2018