Home देश यूपी में महागठबंधन होने पर बीजेपी करेगी ये ख़ास रणनीति

यूपी में महागठबंधन होने पर बीजेपी करेगी ये ख़ास रणनीति

SHARE

देशभर में सभी पार्टिया २०१९ के चुनाव की तैयारियों में जुट गई है. बता दे की उत्तर प्रदेश में सपा, बसपा और कांग्रेस में गठबंधन को लेकर सियासी गरमाई हुई है. ऐसे में बता दे की भारती जनता पार्टी यहा पर जीत हासिल करने के लिए तरह तरह के प्लान बना रही है.

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक़ बता दे की यूपी में बीजेपी ख़ास रणनीति अपना रही है. बीजेपी यहा पर महागठबंधन होने पर और नहीं होने पर ऐसी दो रणनीतियों पर ध्यान दे रही है. बीजेपी की पहली रणनीति है कि सपा, बसपा व कांग्रेस में गठबंधन न हो. यदि बीजेपी की पहली योजना फेल हो जाती है तो भगवा दल दूसरी योजना पर काम करना होगा यह बताया जा रहा है.

खबरों के अनुसार पिछले दिनों बसपा और सपा के बीच उत्तर प्रदेश उपचुनाव में समझौते की खबरों के बीच कांग्रेस ने कहा है कि वह किसी भी पार्टी के साथ गठबंधन नहीं करेगी. कांग्रेस ने इस बात पर जोर दिया कि उसके उम्मीदवार चुनाव लड़ेंगे. अगर ऐसा होता है तो बीजेपी अपने पहली रणनीति पर जोर दे सकती है.

बता दे की अगर महागठबंधन नहीं होता है बीजेपी अपनी दूसरी रणनीति आजमाएगी, जिसमे से नेताओं को टिकट दिया जा सकता है जिनकी क्षेत्र पर अच्छी पकड़ हो. इन नेताओं में सीएम योगी आदित्यनाथ के मंत्री भी हो सकते है इसमें कोई आशंका नहीं है. बता दे की बीजेपी जानती है कि पुराने नेताओं का टिकट काट कर बाहरी लोगों को प्रत्याशी बनाना बेहद जोखिम भरा हो सकता है ऐसे में उन लोगों को तव्वजो दी जा सकती है जो पहले से विधायक व मंत्री है जिनकी अपने क्षेत्र में अच्छी पकड़ है.

जानकारी के मुताबिक़ बीजेपी ने पहले ही संकेत दिया है कि ऐसे नेताओं के टिकट काट दिये जायेंगे. लोकसभा चुनाव से पहले ही बीजेपी इनका टिकट काटेगी. बीजेपी के चाणक्य माने जाने वाले अमित शाह भी इस स्थिति से वाकिफ है ऐसे में बीजेपी जाति कार्ड खेलते हुए खास लोगों को प्रत्याशी बना कर अपनी सोशल इंजीनियरिंग मजबूत कर सकती है यह माना जा रहा है.