Home देश रमजान के मौके पर खुद CM योगी ने उठाया ये बड़ा कदम,...

रमजान के मौके पर खुद CM योगी ने उठाया ये बड़ा कदम, विपक्षियों के उड़े होश

SHARE

जैसे की सब यह बात जानते है की मुस्लिमों का पाक महीना रमजान शुरू हो गया है. इस दौरान हाल ही में रमजान को लेकर यूपी के मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी ने ऐसा आदेश दिया है जिसके बाद इस वजह से विरोधियों को करारा झटका लगेगा यह कहा जा रहा है.

बता दे की अपने चार साल के कार्यकाल में पीएम मोदी ने कुछ ऐसे फैसले लिए हैं जो हर धर्म और हर वर्ग के लिए है, उन फैसलों से ये नहीं कहा जा सकता कि वो फैसला किसी एक धर्म के लिए है. हाला की अभी तक विरोधियों द्वारा यही भ्रम फैलाया जा रहा था कि बीजेपी खासकर मोदी और योगी मुस्लिमों के खिलाफ सोच रखते हैं. ऐसे में ही सीएम योगी ने भी मुस्लिमों के लिए रमजान के महीने में कुछ ऐसा किया है जो सराहनीय है. बता दे दरअसल आज के दिन गर्मी का महीना है. इस वक़्त में कई बार लोगों को बिजली और पानी की समस्या से जूझना पड़ता है. यह स्थिति उत्तर प्रदेश में थोड़ी और गंभीर हो जाती है. गर्मियों में बिजली कटौती बढ़ जाने के वजह से अक्सर लोगों को समस्याएं होती है.

खबरों के मुताबिक़ मुख्यमंत्री योगी ने रमजान महीने में इस समस्या से लोगों को, खासकर मुस्लिमों को दो-चार ना होना पड़े इसके लिए निर्देश दिया है कि, “रमज़ान महीने को देखते हुए यह सुनिश्चित किया जाय कि हर जिले में विद्युत आपूर्ति तथा पेयजल की व्यवस्था सुचारु रूप से व्यवस्थित हो.” दरअसल बता दे की यूपी में कुछ दल ऐसे हैं जो धर्म विशेष और जाति विशेष की राजनीति करते हैं. इस बात को देखते हुए योगी सरकार का यह फैसला अपने आप में सराहनीय है इसमें कोई आशंका नहीं है और अब यह कहा जा रहा है की सीएम योगी के इस फैसले के बाद उन लोगों के पेट में दर्द शुरू हो जायेगा जिन्हें धर्म और जाति की राजनीति करनी होती है. हाला की योगी के इस फैसले से लोग खुश नजर आ रहे है.

सूत्रों की माने यह बात सामने आई है की लोगों की हमेशा शिकायतें रहती थीं कि होली-दीवाली में बिजली, पानी की समस्या रहती थी जबकि ऐसा रमजान, ईद में नहीं होता था. वहीं यूपी की पिछली सरकार में यह भी देखा गया था कि बिजली, पानी जैसी आधारभूत चीजें भी धर्म के आधार पर दी जा रही थीं. इसी को लेकर उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव के दौरान फतेहपुर में पीएम मोदी ने धर्म विशेष की राजनीति करने वाली तत्कालीन सपा सरकार को आगाह करते हुए कहा था कि, “अगर रमजान पर बिजली आती है तो दीवाली पर भी आनी चाहिए, होली पर बिजली आती है तो ईद पर भी आनी चाहिए.” अब यूपी में यह सरकार किसी एक धर्म के लिए नहीं बल्कि ‘सबका साथ-सबका विकास’ की थीम पर काम कर रही है यह योगी के इस फैसले के बाद साबित हो गया है.