Home देश राजनाथ सिंह ने विपक्ष के सवाल को दिया ये करारा जवाब

राजनाथ सिंह ने विपक्ष के सवाल को दिया ये करारा जवाब

SHARE

मॉब लिंचिंग को लेकर संसद में विपक्षी दलों का हंगामा जारी है. मंगलवार को एक बार फिर विपक्षी दलों ने सरकार को घेरने की कोशिश की है. प्रमुख विपक्षी दल कांग्रेस ने अलवर मामला लोकसभा में उठाया. कांग्रेस नेता मल्लिकार्जन खड़गे ने इसकी जांच सुप्रीम कोर्ट जज से करवाने की मांग की वहीं गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि सरकार इस मामले में गंभीर है.

सरकार का पक्ष रखते हुए गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कांग्रेस पर हमला बोला और १९८४ के सिख दंगों के मुद्दे को उठाते हुए बड़ा हमला बोला. राजनाथ सिंह ने कहा कि जो लोग मॉब लिंचिंग के मुद्दे को उठा रहे हैं, उन्हें बता दूं कि सबसे बड़ी मॉब लिंचिंग १९८४ में हुई थी. राजनाथ सिंह ने कहा, ‘मॉब लिंचिंग की घटनाएं बेहद दुर्भाग्यपूर्ण हैं और राज्य सरकारों से मैंने इसके खिलाफ कठोर कार्रवाई के लिए कहा है. क्या हम चाहते हैं कि पाकिस्तानी रूपी जहनियत हिंदुस्तान में जिंदा रहे? हिंदू पाकिस्तान, हिंदू तालिबान की बात करते हैं, देश को कहां ले जाना चाहते हैं.’

वहीं, राजनाथ सिंह के भाषण के दौरान विपक्ष के हंगामे के चलते लोकसभा की कार्यवाही दिन में दूसरी बार स्थगित करनी पड़ी. दोबारा कार्यवाही शुरू होने पर राजनाथ सिंह ने कहा कि अगर नेतृत्व की चर्चा हो जाए तो समझ लीजिए कि ‘गई भैंस पानी में’, ऐसे हालात यहां पैदा हो जाएंगे.

राजनाथ सिंह ने कहा कि ५  साल बाद एक सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव आया है, जब कांग्रेस १० साल सरकार में थी तो हम अविश्वास प्रस्ताव नहीं लेकर आए. कांग्रेस की सरकार के समय हमने इस बात को समझा कि सरकार के पास जनादेश है और हम कभी अविश्वास प्रस्ताव लेकर नहीं आए. राजनाथ सिंह ने कहा, ‘मैं देख रहा हूं कि जिन राजनीतिक दलों ने हमारी सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने की कोशिश की है, उनका भी एक दूसरे पर विश्वास नहीं है.’ राजनाथ सिंह ने कहा कि लोकतंत्र में विपक्ष की भावना का सम्मान जरूरी है, सरकार ने विपक्ष की इच्छा का सम्मान किया है.

पहली गैर कांग्रेसी पार्टी को देश में बहुमत मिला है, हमने त्रिपुरा के अंदर भी अपनी सरकार बनाई, देश ने भाजपा पर भरोसा जताया. विपक्ष के गठबंधन पर राजनाथ सिंह ने बड़ा हमला बोलते हुए कहा कि नेता की बात आने पर विपक्ष बिखर जाएगा. गृहमंत्री ने कहा कि नोटबंदी पर विपक्ष ने भ्रम फैलाया, नोटबंदी के बाद यूपी और कई राज्यों में हमारी सरकार बनी, यह सरकार पर जनता का भरोसा है.