Home देश राहुल गाँधी ने चुनाव के लिए शुरू किया ये नया एजंडा

राहुल गाँधी ने चुनाव के लिए शुरू किया ये नया एजंडा

SHARE

लोकसभा में शुक्रवार को अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तीखा हमला करने और उसके बाद उनके गले लगने के एक दिन बाद शनिवार को राहुल गांधी ने फिर कहा कि वे नफरत का मुकाबला प्रेम से करेंगे. उन्होंने कहा कि लोगों के प्रेम और करुणा से ही देश का निर्माण किया जा सकता है.

राहुल गांधी ने कहा कि अविश्वास प्रस्ताव पर संसद में हुई चर्चा में प्रधानमंत्री ने अपनी बातें रखने के लिए कुछ लोगों के दिलों की नफरत , डर और गुस्से का इस्तेमाल किया जबकि कांग्रेस ने प्रेम एवं करुणा से उसका मुकाबला किया. कांग्रेस अध्यक्ष ने इसे लेकर एक ट्वीट भी किया. उन्होंने ट्वीट में लिखा कि संसद में कल की चर्चा का बिंदु, प्रधानमंत्री ने अपनी बात रखने के लिए हमारे कुछ लोगों के दिलों की नफरत, डर और गुस्से का इस्तेमाल किया.

हम साबित करने जा रहे हैं कि सभी भारतीयों के दिलों में प्रेम एवं करुणा ही देश निर्माण का एकमात्र तरीका है.शुक्रवार को लोकसभा में अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान राहुल ने ४५ मिनट के अपने भाषण में प्रधानमंत्री पर नोटबंदी, बेरोजगारी , राफेल करार , अर्थव्यवस्था की बुरी स्थिति , भीड़ हिंसा , हत्या और दलितों एवं महिलाओं पर कथित अत्याचार के रूप में लोगों पर जुमला स्ट्राइक करने का आरोप लगाया था.

अपना संबोधन खत्म करने के बाद राहुल अपनी सीट से प्रधानमंत्री मोदी की सीट तक गए और उन्हें झुक कर गले लगाया.प्रधानमंत्री ने राहुल से हाथ मिलाया, लेकिन उन्होंने खड़े होकर गले लगने के राहुल के अनुरोध की अनदेखी कर दी. बहरहाल , राहुल ने मोदी के बैठे रहने के बाद भी उन्हें झुक कर गले लगाया. बाद में मोदी ने राहुल को अपने पास बुलाया और उनकी पीठ थपथपाई.

उन्होंने राहुल से कुछ कहा, लेकिन वो सुनाई नहीं दिया. अविश्वास प्रस्ताव पर अपने जवाब के वक्त प्रधानमंत्री ने भी राहुल पर तीखा हमला बोला.गौरतलब है कि शुक्रवार को विपक्ष सदन में सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लेकर आई थी. इस दौरान विभिन्न दलों के साथ-साथ सरकार के मंत्रियों ने भी अपनी बात रखी. बाद में पीएम ने भी अपना संबोधन दिया. जिसके बाद वोटिंग कराई गई.