Home देश राहुल गाँधी ने मैकडॉनल्ड्स और कोका कोला को लेकर किये ये...

राहुल गाँधी ने मैकडॉनल्ड्स और कोका कोला को लेकर किये ये बड़े दावे, बीजेपी नेता भी हस पड़े

SHARE

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने सोमवार को ओबीसी के स्किल्ड लोगों को प्रेरित करने और मोदी सरकार को घेरने के लिए बड़ा बयान दिया. उन्होंने ताल कटोरा स्टेडियम में ओबीसी कार्यकर्ताओं के एक सम्मेलन में बताया कि कोका-कोला के मालिक पहले शिकंजी बेचते थे.लेकिन अपने भाषण में दिए तथ्यों पर वह सोशल मीडिया पर बुरी तरह से ट्रोल हो गए.

यही नहीं उन्होंने कहा कि मैकडॉनल्ड्स के मालिक एक दौर में ढाबा चलाते थे. इससे भी आगे बढ़ते हुए राहुल ने कहा था कि फोर्ड, मर्सिडीज और होंडा जैसी दिग्गज ऑटोमोबाइल कंपनियों के संस्थापक शुरुआती दिनों में मकैनिक थे. उन्होंने कहा कि अमेरिका जैसे देशों में पिछड़े लोग इतना आगे बढ़े, लेकिन भारत की सरकार ओबीसी समाज को पीछे धकेल रही है.राहुल गाँधी का ये दावा है की कोका कोला के संस्थापक जॉन पिम्बर्टन अमेरिका में एक दौर में शिकंजी बेचते थे. इसके बाद कोका कोला का फॉर्म्युला तलाशने के बाद वह पूरी दुनिया में मशहूर हो गए.परंतु इसका सच कुछ और ही है. जॉन पिम्बर्टन मॉर्फिन के अडिक्ट थे. उन्होंने कोका प्लांट के रस, कोला नट्स और कार्बोनेटेड वॉटर को मिलाकर एक पेय तैयार किया था. इसे कोका कोला नाम दिया गया. यही नहीं अपनी पूरी जिंदगी में वह कभी दुनिया के अमीरों की सूची में नहीं आए.राहुल गाँधी बोले मैकडॉनल्ड्स के संस्थापक कभी ढाबा चलाते थे. हालांकि उन्होंने यह नहीं कहा कि वह दिल्ली-अमृतसर हाईवे पर यह ढाबा चलाते थे और न ही इसके संस्थापक पंजाब से थे.

लेकिन सच ये है की मैकडॉनल्ड्स के संस्थापक बंधु रिचर्ड और मौरिस मैकडॉनल्ड्स ने इसकी शुरुआत की थी. दोनों भाइयों ने बाद में इस कंपनी को रे क्रॉक को बेच दिया था, जो मिल्क शेक मिक्सर सेल्समैन थे.वहीं, विदेशों में लोगों के कौशल और प्रतिभा को महत्व मिलता है, जिससे वह मल्टीनेशनल कंपनियां खड़ी कर लेते हैं. राहुल गांधी ने कहा कि फोर्ड मोटर्स, मर्सिडीज बेंज़ और हॉन्डा की शुरुआत मैकेनिक्स ने की थी. मगर, सच तो यह है कि फोर्ड की शुरुआत १९०३ में हेनरी फोर्ड ने ११ लोगों के साथ मिलकर की थी. वह एपरेंटिस मैकेनिस्ट के रूप में काम करते थे और उन्होंने १८९६ में पहली कार बनाई थी.मर्सिडीज की स्थापना गॉटलिब डेमलर ने की थी. उन्होंने अपने करियर की शुरुआत ड्राफ्ट्समैन के रूप में की थी. डेमलर के साथ मैकेनिकल इंजीनियर कार्ल बेंज़ भी इस कंपनी को बनाने में शामिल थे.वहीं शोचिरो हॉन्डा ने हॉन्डा कंपनी की स्थापना की. वह बचपन में साइकिलों की मरम्मत करने में अपने पिता की मदद करते थे. उन्होंने कार मैकेनिक के रूप में अपने करियर की शुरुआत की थी.