Home देश राहुल गांधी ने भाजपा सांसदो पर दिया ये बयान

राहुल गांधी ने भाजपा सांसदो पर दिया ये बयान

SHARE

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का भाजपा पर हमला अब भी जारी है. बुधवार को एक किताब की लॉन्चिंग के मौके पर आयोजित कार्यक्रम में उन्होंने कहा कि भाजपा के सांसद उन्हें देखकर दो कदम पीछे हो जाते हैं. राहुल गांधी का कहना था, ‘आजकल बीजेपी नेताओं को डर लगता है कि कहीं मैं उन्हें गले न लगा लूं.’

राहुल गाँधी का आगे कहना था, ‘मैं आडवाणी जी से असहमत हो सकता हूं और देश के प्रति मेरे विचार भी इनसे अलग हो सकते हैं. मैं आडवाणी जी के विचारों का पुरजोर विरोध कर सकता हूं लेकिन मुझे इनसे नफरत करने की कोई जरूरत नहीं है.’ इस आयोजन में भाजपा के वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी भी मौजूद थे.

लोकसभा में अविश्वास प्रस्ताव पर अपने भाषण के बाद पहली बार सार्वजनिक रूप से बोलते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने राजनीतिक विरोधियों से लड़ने की रणनीति पर बात की लेकिन उनसे नफरत करने की नहीं. एक किताब के लॉन्च के मौके पर राहुल गांधी ने लोकसभा में प्रधानमंत्री को गले लगाने के वाकये पर कहा कि विरोधी दल के नेताओं से असहमति हो सकती है लेकिन नफरत नहीं है.

करन थापर के बुक लॉन्च के मौके पर पूर्व उपप्रधानमंत्री लालकृष्ण आडवाणी भी मौजदू थे, राहुल ने उनकी तरफ इशारा करते हुए कहा, ‘मैं लालकृष्ण आडवाणी से असहमत हो सकता हूं, मैं उनका विरोध कर सकता हूं, लड़ सकता हूं, लेकिन मुझे उनसे नफरत करने की जरूरत नहीं है, हां, मैं उनको गले लगा सकता हूं.’ उन्होंने मजाकिया लहजे में कहा कि अब बीजेपी सांसद मुझे देखकर दो कदम वापस चले जाते हैं शायद ये सोचकर कि मैं उन्हें गले लगाऊंगा.

राहुल गांधी ने कहा कि करण सिंह भी यहीं हैं और उन्होंने मुझे देश के बारे में बहुत कुछ बताया है और धर्मों के बारे में बहुत कुछ बताया है. ये चीजें मुझे नफरत करने को नहीं कहती हैं. सीताराम येचुरी का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि मैं उनसे लड़ सकता हूं लेकिन नफरत नहीं कर सकता हूं. पता नहीं बीजेपी के लोग ऐसा क्यों महसूस करते हैं.