Home देश राफेल डील पर वायुसेना ने कांग्रेस को दिया जवाब

राफेल डील पर वायुसेना ने कांग्रेस को दिया जवाब

SHARE

राफेल डील को लेकर कांग्रेस ने हेराफेरी की.हर तरीके से कांग्रेस ने राफेल डील न होने के लिए कोशिश की.राफेल डील पर सरकार और जनता को गुमराह करने की कोशिश की.कांग्रेस के कारण अब तक सेना को पुराने ही लड़ाकू विमानों से काम करना पड़ता है.कांग्रेस इस मुद्दे को लेकर सुप्रीम कोर्ट में पहुंची है.

सुप्रीम कोर्ट में जाकर कांग्रेस पूरी कोशिश कर रहा है की किसी भी तरह यह डील रुकवा दी जाए.कांग्रेस सरकार इससे पहले बिना किसी तकनीकवाला हथियार महंगे सौदे से फ्रांस से ले रही थी.मोदी सरकार ने घातक हथियारों और उच्च तकनीकियों के साथ कम दाम में खरीद रही है.अब तीन विमान भारत पहुँच गए है जिनका परिक्षण भी किया गया है.

अब खुद वायुसेना के प्रमुख चीफ मोदी सरकार को समर्थन दे रहे है.मिली रिपोर्ट्स के अनुसार वायुसेना प्रमुख बीरेंदर सिंह धनोआ का राफेल डील का समर्थन करते हुए कहना है की वायुसेना के लिए यह एक बड़ा कदम है.धनोआ ने फाॅर्स स्ट्रक्चर २०३५ के सेमीनार में कहा की मोदी सरकार के इस डील से राफेल और एस ४०० फाइटर जेट को वायुसेना में उपलब्ध करने से मजबूती प्राप्त की है.

धनोआ ने सेमीनार में कहा की जिस तरह भारत के सामने ख़तरा है वैसा लड़ाकू हथियार भारत के पास नहीं है.लेकिन हमारे पडोसी देशों में बड़ी तैयारी चल रही है.चीन की वायुसेना बड़ी मजबूत है.चीन सीमा पर लड़ाकू विमान तैनात कर रहा है.चीन को रातों रात विचार बदलने में देरी नहीं लग सकती।विरोधियों का सामना करने के लिए हमें ताकत जुटानी पड़ेगी।भारतीय वायुसेना को राफेल डील की पूरी जानकारी है और वो इसका महत्व भी जानते है.

कांग्रेस इस डील न होने पर अड़ी है क्योंकि इससे मोदी सरकार की वाहवाह होगी।कांग्रेस के  उनकी यह डील न होइ पाई क्योंकि उनके दलालों के चक्कर में डील नहीं हुई.कांग्रेस के इस घोटाले के कारन वायुसेना पुरानी विमानों से काम कर रही है.वायुसेना के प्रमुख ने राफेल डील का समर्थन किया है और कहा की जो लोग इसका विरोध कर रहे है उनको पहले इस बारे में जानकारी लेनी चाहिए।