Home देश विमान यात्रियों के लिए खुशखबरी, मोदी सरकार ने दिया ये बड़ा तोफहा

विमान यात्रियों के लिए खुशखबरी, मोदी सरकार ने दिया ये बड़ा तोफहा

SHARE

केंद्र सरकार ने हवाई यात्रा करने वालों को बड़ी सौगात दी है. पिछले कुछ वर्षों में देश में विमान यात्रियों की संख्या बढ़ी है. अभी आई खबरों के मुताबिक़ हवाई यात्रियों को और रिझाने के लिए और विमानन कंपनियों की मनमानी खत्म करने के लिए सरकार ने नया आदेश जारी किया है.

मंगलवार को नागरिक उड्डयन राज्य मंत्री जयंत सिन्हा ने पैसेंजर चार्टर का ड्राफ्ट जारी किया है. जानकारी के मुताबिक़ बता दे की सरकार ने फ्लाइट टिकट कैंसिल कराने में विमानन कंपनियों की मनमानी खत्म करने और अचनाक फ्लाइट रद्द होने पर अगली फ्लाइट की टिकट देने की समस्या से छुटकारा दिलाने के लिए यह पैसेंजर चार्टर का ड्राफ्ट जारी किया है. हाला कि इस ड्राफ्ट को कैबिनेट से मंजूरी मिलने के बाद ही लागू किया जाएगा. ड्राफ्ट के प्रावधानों की जानकारी देते हुए जयंत सिन्हा ने बताया की फ्लाइट बुकिंग के बाद २४ घंटे का लॉक-इन ऑप्शन होगा. इसके बाद और विमान के उड़ान भरने से ९६ घंटे पहले तक टिकट कैंसिल कराने पर कोई चार्ज नहीं देना होगा. बताया जा रहा है कि इस ड्राफ्ट के लागू होने के बाद यात्रियों को विमान में इंटरनेट सुविधा मिल सकती है.

बता दे की इंटरनेट सुविधा विमान के ३००० मीटर से ऊपर जाने के बाद दी जाएगी, इसके पहले मोबाइल को फ्लाइट मोड पर ही रखना होगा. सूत्रों की माने एयरलाइन और उसके एजेंट किसी भी हालत में यात्रियों से फ्लाइट टिकट का कैंसलेशन चार्ज बेसिक फेयर और फ्यूल चार्जेज से ज्यादा नहीं ले सकेंगे और इसके साथ ही फ्लाइट टिकट का कैंसलेशन चार्ज टिकट पर प्रिंट किया जाएगा. जयंत सिन्हा ने कहा कि केंद्र सरकार यात्रियों को टिकट कैंसलेशन चार्ज से राहत दिलाने के लिए प्रतिबद्ध है और इसके लिए वो ठोस कदम उठा रही है. आगे उन्होंने बताया कि सरकार जल्द ही पेपरलेस यात्रा शुरू करने जा रही है, जिसमें यात्रियों को एक खास यूनिक कोड दिया जायेगा और इस कोड को यात्रा के समय एयरपोर्ट पर बताना है.

जानकारी के मुताबिक़ २४ घंटे के अंदर टिकट में नाम और पता जैसे बदलाव भी फ्री में कराए जा सकेंगे. जयंत सिन्हा ने पेपरलेस यात्रा के बारे में जानकारी देते हुए ये कहा की पेपरलेस यात्रा के लिए बायोमैट्रिक आधारित ‘डिजी-यात्रा’ की भी शुरुआत की है. इससे घरेलू हवाई यात्रियों को भी जल्द ही एयरपोर्ट पर पूरी तरह कागज रहित बोर्डिंग की सुविधा मिल सकेगी. हाला कि इस यात्रा के दौरान यात्री को अपना पहचान पत्र दिखाना जरुरी होगा. अगर विमानन कंपनियों की गलती से फ्लाइट में देरी होती है, तो उन्हें यात्रियों को इसका हर्जाना देना होगा. इसके अलावा यदि फ्लाइट अगले दिन तक के लिए डिले होती है, तो बिना किसी अतिरिक्त चार्ज लिए यात्रियों के होटल में रुकने की व्यवस्था करनी होगी. यह सब जानकारी जयंत सिन्हा ने दी है. ड्राफ्ट के अनुसार विमान कंपनियों को कनेक्टिंग फ्लाइट मिस होने पर भी कंपनियों को हर्जाना देगा होगा यह भी बताया जा रहा है.