Home देश श्रंद्धाजलि को ओवैसी के पार्षद का इंकार

श्रंद्धाजलि को ओवैसी के पार्षद का इंकार

SHARE

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी जी का ९३ साल की उम्र में निधन हो गया.भारतरत्न और भारतीय राजनीति के सबसे दिग्गज नेता की कमी हर भारतीय को महसूस हो रही है.पीएम नरेंद्र मोदी ने इस मौके पर सात दिन का राष्ट्रीय शोक घोषित किया है.उनके निधन पर देश का नहीं बल्कि श्रद्धांजलि देने के लिए विदेश से भी तांता लगा हुआ था.

अटल जी एक ऐसा नेता थे जिनके विरोधी भी चाहते है.चाहे विरोधक हो या समर्थक हो उनके विरोधी ,हर कोई अपने तरीके से याद करते थे.देश के कोने से उन्हें याद कर सवेंदनाए प्रकट कर रहे है.देश स्वतंत्र होने के बावजूद भी ऐसे कई लोग इतने कट्टर और गिरे हुए लोग है जो देश में घुस गए है.धर्म में अंध हो चुके कई लिओग है जो उन्हें नेता बना देते है.

कई ऐसा नेता सामने आये है जो अटल बिहारी वाजपेयी जी की श्रद्धांजलि का अपमान करने से हिचक नहीं रहे.ऐसा करने पर सदन में मौजूद बीजेपी सांसदों ने उस नेता की जो धुलाई की है जिससे वो सीधा अस्पताल में पहुंचे है.अभी एक मिली बड़ी खबर के अनुसार कहा जाता है की पूर्व पीएम वाजपेयी जी को श्रंद्धाजलि का विरोध की खबर सामने आयी है.

श्रद्धांजलि देने से इंकार करने पर उस सांसद की बड़ी पिटाई की है.औरंगाबाद नगर निगम में शुक्रवार को देश के पूर्व प्रधानमंत्री वाजपेयी जी को श्रद्धांजलि देने का कार्यक्रम रखा है.इस कार्यक्रम को ओवैसी की पार्टी की पार्षद अब्दुल मतीन ने विरोध करना शुरू कर दिया।इसके कारण सदन में मौजूद बीजेपी के पार्षदों का खून खौल उठा.ओवैसी पार्षद के बिच चलते सदन में पिटाई की.

लात घुसे,थप्पड़ की बरसात से बचाने उनके पार्टी के लोग नहीं आये.सदन के सभापति ने उनको रोकने की कोशिश की लेकिन भाजपा पार्षदों ने पिटाई की. सुरक्षाकर्मियों ने उन्हें किसी तरह सदन से बाहर निकालने की कोशिश की.पूरा देश गम में डूबा है और उनके विरोधी भी उनको श्रद्धांजलि दे रहे है.यहाँ तक की सोनिया,ममता और मायावती भी श्रद्धांजलि दे रहे है.लेकिन इस पार्षद ने ओवैसी जैसा काम किया।

वीडियो:इस लड़की ने पूछा ऐसा सवाल जिसका मोदी जी ने मुस्कुरा के दिया जबरदस्त जवाब

इस लड़की ने पूछा ऐसा सवाल जिसका मोदी जी ने मुस्कुरा के दिया जबरदस्त जवाब

इस लड़की ने पूछा ऐसा सवाल जिसका मोदी जी ने मुस्कुरा के दिया जबरदस्त जवाब

Posted by NAMO TV on Sunday, August 5, 2018