Home देश सीएम योगी आदित्यनाथ का भ्रष्ट अधिकारियों पर बड़ा एक्शन

सीएम योगी आदित्यनाथ का भ्रष्ट अधिकारियों पर बड़ा एक्शन

SHARE

जब से सत्ता में सीएम योगी आये है तब से उत्तरप्रदेश के अच्छे दिन शुरू हुए है.सीएम योगी के कारण उत्तरप्रदेश में अर्थपूर्ण रूप से विकास होना शुरू हो गया है.हर भ्रष्ट हरकतों पर सीएम योगी ने सख्त कदम उठाये है.सीएम योगी को कदम उठाने पड़ रहे है क्योंकि कानून के बावजूद भी लोग भ्रष्टाचार करते है.

कानून करने के बाद भी इसपर नया विकल्प ढूंढकर लोग भ्रष्टाचार करते है.पीएम मोदी ने देशभर में भ्रष्टाचार रोकने के लिए देश में नोटेबंदी चलायी और सीएम योगी ने इससे भी आगे जाकर भ्रष्ट अधिकारियों को ही बंदी करवाया। रिपोर्ट्स के मुताबिक़ डेढ़ सौ से ज्यादा भ्रष्ट अधिकारीयों के खिलाफ  सीएम योगी ने एफआरआई दर्ज करने के आदेश दिए है.इसके कारण प्रदेश के डेढ़ सोउ से ज्यादा अधिकारियों पर शिंकजा कसा गया है.

सीएम योगी ने कड़े आदेश करवाते हुए कहा की इन सभी भ्रष्ट अधिकारियों को जेल में डाला जाए.घोटाले में बचकर जानेवाले भ्रष्ट अधिकारियों पर भी एफआईआर की तैयारी की गई है.इन सभी अधिकारियों में अल्पसंख्यांक कल्याण विभाग,बेसिक शिक्षा और समाज कल्याण के अधिकारियों का समावेश है.छात्रवृति घोटाले के अधिकारियों पर भी एफआईआर दर्ज कर कार्रवाई करने का आदेश दिया है.

सीएम योगी ने आदेश दिया है की जिन्होंने फाईले छिपा के रखी है उन सभी के फाईले दो महीने के अंदर निकालकर उन्हें निस्तारण किया जाए.इसके लिए ख़ास मुख्य सचिव और प्रमुख सचिव के निगरानी में समिति बनाकर जांच शुरू की है.सीएम योगी के इस आदेश के कारण सभी भ्रष्ट अफसरों में हड़कंप मचा हुआ है.अब ३०० से ज्यादा अफसरों और माननीयों पर कार्रवाई होगी।ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने कहा की योगी सरकार भ्रष्टाचार के खिलाफ जीरो टोलेरेंस से काम कर रही है.

इसलिए भ्रष्ट अफसरों पर एफआईआर दर्ज कर उन्हें जेल भी भिजवा जाएगा।यूपी के सभी अफसरों के काली कमाई पर सरकार का हंटर चलेगा।सभी के खिलाफ एफआईआर दर्ज होकर उन्हें जेल की हवा खानी पड़ेगी।यूपी में पिछले कई सालों से बड़े अफसर और राजनेताओं ने पूर्व  राजनितिक ताकद से फायले दबाके रखी  है.