Home देश CM योगी आये एक्शन में, मुलायमसिंह पर अचानक ही लिया ये बड़ा...

CM योगी आये एक्शन में, मुलायमसिंह पर अचानक ही लिया ये बड़ा फैसला

SHARE

सर्वोच्च न्यायालय के आदेश के बाद राज्य संपत्ति विभाग ने भी अपनी ओर से सभी पूर्व मुख्यमंत्रियों को १५ दिन के भीतर बंगला खाली करने का नोटिस भेज दिया है. पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव ने सरकार की ओर से बढ़ते दबाव के बाद अपने आशियाने की तलाश शुरू कर दी है. इस बीच सपा के राज्यसभा सांसद संजय सेठ ने गोमती नगर में मुलायम को १४ करोड़ रुपये का बंगला तोहफे में देने की घोषणा है.

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव को उनकी पार्टी के सांसद संजय सेठ १४ करोड़ का बंगला खरीदकर भेंट करना चाहते हैं. हालांकि, इसके मालिक से २ करोड़ पर सौदा अटका हुआ है.जानकारों के मुताबिक, संजय सेठ ने मुलायम को गोमतीनगर के विपुलखंड स्थित सृजन विहार में ११ हजार स्क्वायर फीट में बनी एक कोठी मुलायम को दिखाई है. यही नहीं, मुलायम को यह कोठी पसंद भी आई है लेकिन इसका सौदा अभी अटका हुआ है. जानकारों के मुताबिक, इसके लिए सेठ ने वाराणसी के एक बड़े व्यवसायी आरके अरोड़ा से बातचीत की है. अरोड़ा ने यह कोठी अपने और परिवार के लिए बनवाई थी, लेकिन फिलहाल यह खाली पड़ी हुई है.अरोड़ा ने कोठी की कीमत १६ करोड़ रुपये लगाई है लेकिन संजय सेठ की तरफ से १४ करोड़ रुपये दिए जाने की बात कही गई है.इसी क्रम में केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह सबसे पहले कालिदास मार्ग स्थित अपना आवास खाली करेंगे. सांसद प्रतिनिधि दिवाकर त्रिपाठी के मुताबिक गोमतीनगर में लगभग २१०० वर्ग फीट के मकान में मरम्मत का कार्य चल रहा है.

उन्होंने कहा कि नोटिस अवधि के दौरान ही गृहमंत्री राजनाथ सिंह सरकारी आवास छोड़ देंगे.राजनाथ सिंह के अलावा राज्य संपत्ति विभाग ने पूर्व मुख्यमंत्रियों एन.डी. तिवारी, मुलायम सिंह यादव, अखिलेश सिंह यादव व मायावती को भी नोटिस भेजा है. इन सबको १५ दिन के भीतर सरकारी बंगला खाली करना है. नोटिस के बाद से ही सभी पूर्व मुख्यमंत्री अपने आशियाने की तालाश में शिद्दत से जुटे हुऐ हैं.सर्वोच्च न्यायालय के आदेशानुसार, उत्तर प्रदेश के छह पूर्व मुख्यमंत्रियों को अपना सरकारी बंगला खाली करना है.- एनजीओ लोक प्रहरी की १४ साल पहले दायर की गई याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने इस संबंध में राज्य सरकार का पहले का आदेश रद्द कर दिया था. कोर्ट ने २०१४ में इस मामले में सुनवाई पूरी कर ली थी, लेकिन अपना आदेश सुरक्षित रखा था. अब कोर्ट के आदेश के बाद यूपी के करीब ६ पूर्व मुख्यमंत्रियों या उनके परिवारों को १५ दिन में सरकारी बंगले खाली करने होंगे. इनमें राजनाथ सिंह, मुलायम सिंह, एनडी तिवारी का परिवार, मायावती, कल्याण सिंह और अखिलेश यादव शामिल हैं.