Home देश CM शिवराज ने ऐसा क्या आदेश दिया की सभी मौलवी बौखलाए

CM शिवराज ने ऐसा क्या आदेश दिया की सभी मौलवी बौखलाए

SHARE

१५ अगस्त मतलब भारत देश की आजादी का सबसे बड़ा दिन करीब है.इसलिए इस दिन पर हमें पहले उन क्रांतिकारियों का शुक्रिया अदा करना चाहिए जिन्होंने हमें आजादी दिलाने के लिए खुद की कुर्बानी दी.जो २३-२५ की  जवानी की उम्र में फांसी के फंदे पर झूलने के लिए तैयार हुए.

भगतसिंह,सुखदेव,राजगुरु आदि शहीदों ने देश के लिए अपना सबकुछ बिना सोचे अर्पण कर दिया।लेकिन देश के चंदगुणो ने उन्हें वो सम्मान नहीं दिया जो असल में देना चाहिए था.ऐसे दिन पर हर देश को एकसाथ आ कर स्वतंत्रता दिन ख़ुशी से मना चाहिए लेकिन देश में आज ऐसे कई लोगो को पला जा रहा है जिन्हे कॉलेज या यूनिवर्सिटी में तिरंगा फहराना अच्छा नहीं लगता।

कई ऐसे भी लोग है जिन्हे राष्ट्रगीत के लिए ५२ सेकंड खड़े रहना भी अत्याचार लगता है.कई लोगों को तो वन्दे मातरम से भी तकलीफ लगती है क्योंकि उनका कहना है की वो गीत सविधान में नहीं लिखा।कोई इसी देश  खाकर इसी देश के टुकड़े करने की बात करते है.देश के खिलाफ सीए करनेवाले लोगों को पकड़ पकड़ कर राष्ट्रभक्ति सिखाना चाहिए।.इसी के चलते सीएम शिवराज ने एक कडा फैसला सुनाया है.

सीएम योगी ने जैसे सभी मदरसों में तिरंगा फरहाना,स्वतंत्रता दिवस के कार्यक्रम करना और इस सबकी वीडियो बनाकर सरकार के पास भेजने को कहा है.इस आदेश का पालन कुछ ने हंसकर किया तो कुछ ने रोकर अपनी मानसिकता दिखाई।सिर्फ इसी तरह सीएम शिवराज ने भी सभी मदरसों में तिरंगा फरहाना और स्वतंत्रता दिन को मनाने का आदेश दिया है.

सभी मदरसों को सिर्फ तिरंगा फरहान का नहीं तो तिरंगा यात्रा निकालने का आदेश दिया है.मदरसों में सांस्कृतिक कार्यक्रम भी किये जाए और इन सबकी फोटो मदरसा बोर्ड की ईमेल पर भेजी जाए.इस आदेश के कारण कांग्रेस पूरी तरह बौखला गया है.इस आदेश के चलते कुछ मौलवी भड़क गए है.मौलाना सैफ अब्बास ने कहा की जब हम हिन्दुस्थान के अंदर है तो हम पर शक क्यों है.लेकिन हम यहाँ बताना चाहते है की अगर दिल के अंदर देशभक्ति है तो फिर किस बात की परेशानी है.

निचे वीडियो देखे – राहुल गाँधी ने फिर किया दुनिया को लोट पोट, छतीससगढ़ की स्पीच में लोग हंस हंस के पागल