Home देश NDA के नाराज नेताओं पर कांग्रेस की नजर

NDA के नाराज नेताओं पर कांग्रेस की नजर

SHARE

२०१९ चुनाव में भाजपा को मात देने के लिए कांग्रेस जोरो शोरों से तैयारियां कर रही है. खबर के मुताबिक़ बता दे की बिहार में एनडीए में पार्टी से नाराज चल रहे नेताओं पर कांग्रेस की नजर है. नेताओं के लगातार पार्टी विरोधी बयान, कांग्रेस के लिए एक नया रास्ता खोल रहे है.

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक़ बता दे की बिहार के मुख्यमंत्री और एनडीए नेता नीतीश कुमार के ‘भाजपा-जदयू अगला चुनाव मिलकर लड़ेंगे’ इस बयान के बाद कांग्रेस ने पैंतरा बदल दिया है. अब पार्टी की नजर एनडीए के नाराज नेताओं पर टिक गई है. बिहार में अधिक से अधिक सीटों पर महागठबंधन की जीत के इरादे से कांग्रेस वैसे तमाम पहलुओं पर विचार कर रही है जहां से जीत की राह आसान हो सकती है.

खबरों की माने इसी कड़ी में पार्टी की नजर राष्‍ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन यानी के एनडीए के वैसे नेताओं पर भी है जो फिलहाल खुद को असहज पा रहे है. इसमें भाजपा सांसद शत्रुघ्न सिन्हा से लेकर लोजपा सांसद वीणा देवी, चौधरी महबूब अली कैसर, रामा सिंह तक पर कांग्रेस की निगाहें है. इनके अलावा भी कुछ नेता है जो पार्टी से नाराज तो है, लेकिन फिलहाल मौन है. कांग्रेस को ऐसे नेताओं के मुखर होने का इंतजार है यह बताया जा रहा है.

बता दे की बिहार कांग्रेस के प्रभारी अध्यक्ष कौकब कादरी स्वीकार करते है कि बड़ी संख्या में एनडीए के नाराज नेता है जिनका दम एनडीए में घुट रहा है. वैसे नेता उनके संपर्क में है और समय आने पर ऐसे नेताओं के नाम सार्वजनिक किए जाएंगे. सूत्रों की माने कुछ पहले तक कांग्रेस अपने नेताओं की मदद से नीतीश कुमार पर डोरे डालने में जुटी थी.

जानकारी के मुताबिक़ कवायद यह थी कि नीतीश कुमार किसी प्रकार एनडीए से अलग होकर महागठबंधन में शामिल हो जाएं. लेकिन, कांग्रेस को एक झटके में नीतीश कुमार ने यह कहकर शांत करा दिया कि एनडीए में सबकुछ ठीक है. ऐसे में लोकसभा चुनाव की तैयारियों को लेकर युद्ध स्तर पर जुटी कांग्रेस हर विधि से प्रतिद्वंद्वियों को मात देने की रणनीति बना रही है इसमें कोई आशंका नहीं है.