Home देश NRC के मुद्दे पर ममता आक्रमक

NRC के मुद्दे पर ममता आक्रमक

SHARE

असम में जारी हुआ एनआरसी का डाटा बड़ा राजनीतिक मुद्दा बन गया है. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी एनआरसी के मुद्दे पर आक्रामक रुख अपनाए हुए है. बता दे की ममता बनर्जी ने मंगलवार को कहा था कि अगर ऐसा ही चलता रहा तो देश में गृहयुद्ध की स्थिति हो सकती है. ऐसे में ममता के इस बयान से कांग्रेस खासी नाराज दिख रही है.

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक़ बता दे की पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने असम में नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजन यानी के एनआरसी में करीब ४० लाख लोगों के नाम न होने को लेकर बीजेपी सरकार पर हमला बोला है. उन्होंने कहा है कि इससे देश में गृहयुद्ध की स्थिति पैदा हो जाएगी. इसके अलावा ममता ने इस मुद्दे को एक वैश्विक मुद्दा बताया है.

खबरों की माने जिसके बाद रिपुन बोरा ने कांग्रेस की ओर से सफाई दी कि कांग्रेस ममता के बयान का समर्थन नहीं करती है. कांग्रेस को डर है कि इस प्रकार की बयानबाजी से अन्य राज्यों में बीजेपी के पक्ष में माहौल बन सकता है. इस मुद्दे पर ममता से बात करने की जिम्मेदारी अहमद पटेल और गुलाम नबी आजाद को दी गई है यह बताया जा रहा है.

बता दे की इस मुद्दे पर कांग्रेस शांति से तथ्यों पर विरोध दर्ज कराना चाहती है. लेकिन वह किसी भी कीमत पर गृहयुद्ध जैसे शब्दों का प्रयोग नहीं करेगी. बताया जा रहा है कि इस मुद्दे पर मंगलवार रात को कांग्रेस की एक इंटरनल बैठक भी हुई. सूत्रों की माने ममता बनर्जी अभी दिल्ली के दौरे पर है, इस दौरान वह कई नेताओं से मुलाकात कर रही है. ममता एनआरसी के मुद्दे पर काफी आक्रामक तरीके से बीजेपी के खिलाफ मोर्चा खोले हुए है.

जानकारी के मुताबिक़ ममता ने मोदी सरकार पर आरोप लगाया कि वह राजनीतिक फायदे के लिए असम में लाखों लोगों को राज्यविहीन करने की कोशिश कर रही है. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ने यहां एक सम्मेलन में कहा, “राजनीतिक मंशा से एनआरसी तैयार किया जा रहा है. हम ऐसा होने नहीं देंगे. वे (भाजपा) लोगों को बांटने की कोशिश कर रहे है. इस हालात को बर्दाश्त नहीं किया जा सकता. देश में गृह युद्ध, खूनखराबा हो जाएगा.”