Home देश NRC पर अमित शाह का कांग्रेस को झटका

NRC पर अमित शाह का कांग्रेस को झटका

SHARE

हाल ही में लोकसभा में कांग्रेस, तृणमूल कांग्रेस और वामदलों समेत कुछ विपक्षी दलों के सदस्यों ने असम में राष्ट्रीय नागरिक पंजिका यानी के एनआरसी का मुद्दा उठाया था. अभी मिली खबर के अनुसार बता दे की इस मुद्दे पर विपक्ष के हमले पर बीजेपी अध्‍यक्ष अमित शाह ने पलटवार किया है.

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक़ बता दे की असम में नैशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजन यानी के एनआरसी का दूसरा ड्राफ्ट सोमवार को जारी किया गया. तो वही ४० लाख लोगों के नाम शामिल न किए जाने के मुद्दे पर मंगलवार को संसद के दोनों सदनों में गर्मागर्म बहस हुई. असम के एनआरसी मुद्दे पर बीजेपी अध्‍यक्ष अमित शाह ने विपक्ष के आरोपों पर पलटवार करते हुए यह कहा कि विपक्ष बांग्‍लादेशी घुसपैठियों को बचाना चाहता है.

खबरों की माने राज्यसभा में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने कांग्रेस पर पलटवार करते हुए कहा कि वह आज इस पर सवाल उठा रही है, जबकि इसकी पहल खुद तत्कालीन प्रधानमंत्री राजीव गांधी ने की थी. शाह ने कहा कि कांग्रेस के पास असम समझौते को लागू करने की हिम्मत नहीं थी और बीजेपी सरकार ने हिम्मत दिखाकर यह काम किया है.

बता दे की अमित शाह ने कहा कि, “कोई यह नहीं बता रहा है कि एनआरसी की शुरुआत कहां ये हुई और यह आया कहां से है. उन्होंने जानकारी देते हुए बताया कि अवैध घुसपैठियों के मामले पर सैकड़ों युवा शहीद हुए थे. १४ अगस्त, १९८५ को तत्‍कालीन प्रधानमंत्री राजीव गांधी ने असम समझौते को लागू किया था. यही समझौता एनआरसी की आत्मा थी. इस समझौते में यह प्रावधान किया गया था कि असम में अवैध घुसपैठियों को पहचानकर उनको सिटिजन रजिस्टर से अलग कर एक नेशनल रजिस्टर बनाया जाएगा.”

एनआरसी मामले पर तेज राजनीति के बीच हैदराबाद से बीजेपी विधायक राजा सिंह का एक भड़काऊ बयान सामने आया है. राजा सिंह ने कहा है कि जो अवैध बांग्लादेशी अपने देश वापस नहीं लौट रहे है, उन्हें गोली मार देनी चाहिए. आपको बता दे कि राजा सिंह हैदराबाद की गोशमहल विधानसभा से विधायक है.