Home देश PM मोदी के साथ राजधानी लखनऊ आएंगे ये 7 बड़े उद्योगपति

PM मोदी के साथ राजधानी लखनऊ आएंगे ये 7 बड़े उद्योगपति

SHARE

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में कुछ महीने पहले हुई ‘ग्लोबल इनवेस्टर्स समिट’ में केंद्रीय मंत्रियों एवं देश के नामी-गिरामी उद्योगपति जुटे थे. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दो दिवसीय दौरे के दौरान एक बार फिर ऐसा ही नजारा ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी समारोह के दौरान २९ जुलाई को देखने को मिलेगा. प्रधानमंत्री मोदी यहां से पूरे देश को एक सियासी संदेश भी देने की कोशिश करेंगे.

प्रधानमंत्री दो दिवसीय दौरे पर २८ जुलाई को पहुंचेंगे. ग्राउंड सेरेमनी के जरिये प्रधानमंत्री पूरे देश को सियासी संदेश देने की कोशिश करेंगे. उनके कार्यक्रम को लेकर अब राज्य सरकार की ओर से तैयारियां तेज कर दी गई हैं. शासन से जुड़े वरिष्ठ अधिकारियों की माने तो २९ जुलाई को लखनऊ में होने वाली ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी में देश की कई नामी गिरामी हस्तियां मौजूद रहेंगी.

एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि २९ जुलाई को ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी में ११ केंद्रीय मंत्रियों के साथ देश के सात बड़े उद्योगपति व कंपनियों के सीईओ भी शामिल होंगे. इनके अलावा केंद्र सरकार के २६ वरिष्ठ अफसर भी प्रधानमंत्री के साथ शहर में मौजूद रहेंगे. शासन से जुड़े सूत्रों ने बताया कि जिन उद्योगपतियों के साथ एमओयू साइन हुआ है वह भी कार्यक्रम में शामिल होंगे. इनके अलावा देश के सात सबसे बड़े उद्योगपति व उनकी कंपनियों के सीईओ भी २९ जुलाई को लखनऊ जाएंगे.

राज्य सरकार ने इन्हें राज्य अतिथि घोषित किया है. ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी में जो ११ केंद्रीय मंत्री भी शामिल हो रहे हैं, इनमें नितिन गडकरी, स्मृति ईरानी, रविशंकर प्रसाद, अरुण जेटली, सुरेश प्रभु, हर्षवर्धन, हरसिमरत कौर बादल, राज्यवर्धन सिंह राठौर, निर्मला सीतारमण और पीयूष गोयल भी समारोह में शामिल होंगे. जिन उद्योगपतियों को इस कार्यक्रम में शामिल होने के लिए बुलाया गया है, उसमें रिलायंस इंडस्ट्रीज के अध्यक्ष व प्रबंध निदेशक मुकेश अंबानी, आदित्य बिरला ग्रुप के चेयरमैन कुमार मंगलम बिड़ला, टाटा संस के अध्यक्ष एन.

चंद्रशेखरन, एसेल ग्रुप एंड जी के अध्यक्ष सुभाष चंद्रा, अडानी ग्रुप के अध्यक्ष व प्रबंध निदेशक गौतम अडानी, एचसीएल के संस्थापक व चेयरमैन शिव नादर तथा भारती इंटरप्राइजेज के संस्थापक व अध्यक्ष सुनील भारती मित्तल भी शामिल होंगे. ये बिलकुल वैसे ही होगा जैसे फरवरी २०१८ में आयोजित किया गया इन्वेस्टर्स समिट में था. ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट में पीएम मोदी के अलावा केंद्रीय मंत्रियों और देश के बड़े-बड़े उद्योगपति शामिल हुए थे.