Home देश PM मोदी जल्द ही लेंगे ये बड़ा फैसला, पुरे देश को था...

PM मोदी जल्द ही लेंगे ये बड़ा फैसला, पुरे देश को था इसका इन्तजार

SHARE

मोदी सरकार सत्ता पर आते ही सरकार द्वारा देशहित के लिए नई योजनाए शुरू की गई है. ऐसे में वस्तु एवं सेवा कर या जी एस टी भारत सरकार की नई अप्रत्यक्ष कर व्यवस्था है जो १ जुलाई २०१७ से लागू हो गई है. यह एक महत्वपूर्ण योजना बताई जाती है.

जानकारी के मुताबिक़ सबसे महत्वपूर्ण योजनाओं में से एक ‘वस्तु सेवा कर’ (जीएसटी) को लेकर बड़ी खबर सामने आ रही है. बता दे की जीएसटी को लेकर मोदी सरकार की इस नरमी की आप भी तारीफ करेंगे. मोदी सरकार ने धार्मिक संस्थाओं को देखते हुए और जनता के कुछ सुझाव के बाद जीएसटी की दरों में बड़ा बदलाव के संकेत दिए हैं. बता दे की मोदी सरकार के इस फैसले की वजह से हुत से लोगों को मिर्ची भी लग सकती है. सूत्रों की माने सरकार ने मंगलवार को साफ कहा कि मंदिर, गुरुद्वारा, मस्जिद, दरगाह और चर्च में लोगों को मुफ्त बांटे जाने वाले प्रसाद पर जीएसटी में रियायत दी जा सकती है अभी इस पर विचार किया जा रहा है. सरकार जल्द ही इसको लेकर बड़ा फैसला कर सकती है यह जानकारी सामने आई है.

आपको बता दें कि मोदी सरकार धार्मिक संस्थाओं के ‘अन्न क्षेत्र’ में मुफ्त में वितरित किए जा रहे खाने पर ‘वस्तु सेवा कर ‘ (जीएसटी) नहीं लगाने पर अब नरम दिख रही है. इस फैसले को लेकर सरकार का ये रुख केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल और शिरोमणि अकाली दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल के विशेष आग्रह को लेकर किया गया. बता दें कि हरसिमरत कौर बादल और सुखबीर सिंह बादल ने खुद पीएम मोदी से इसको लेकर आग्रह किया था. सूत्रों की माने तो सरकार जीएसटी बिल में शर्तों के साथ बदलाव करेगी और धार्मिक संस्थाओं, जो इस दायरे में छूट मांग रही हैं, उनसे सालाना रिकार्ड भी मांग सकती है. यह छूट अन्य मंदिरों को मिल सकती है. मोदी सरकार का यह फैसला वाकैय बहुत तारीफ़ करने लायक है.

जानकारी के मुताबिक़ बता दे की स्वर्ण मंदिर के लंगर के बजट पर जीएसटी लागू होने के बाद पहले के मुकाबले १० करोड़ रुपए का बोझ पड़ रहा है ऐसा बताया गया है. सूत्रों के मुताबिक़ स्वर्ण मंदिर में एक दिन में खाना बनाने के लिए लगभग ७००० किलोग्राम आटा, १२०० किलोग्राम चावल, १३०० किलोग्राम दाल और ५०० किलोग्राम घी का इस्तेमाल किया जाता है यह जानकारी सामने आई है. खबरों के अनुसार वहीं हर दिन बनने वाली सब्जियों की मात्रा भी हजारों किलोग्राम में होती है. जानकारी के मुताबिक़ आपको बता दे की नई दिल्ली में भी दो बड़े गुरुद्वारों बंगला साहिब और शीशगंज साहिब में २४ घंटे लंगर चलता है. हाला की मोदी सरकार के इस फैसले ने लोगों में ख़ुशी का माहौल बन जाएगा इसमें कोई आशंका नहीं है.