Home देश PM मोदी ने रवांडा को दिया ये बड़ा तोहफा, ये बड़ी वजह...

PM मोदी ने रवांडा को दिया ये बड़ा तोहफा, ये बड़ी वजह आयी सामने

SHARE

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तीन अफ्रीकी देशों की यात्रा के तहत रवांडा पहुंच गये हैं. यह किसी भारतीय प्रधानमंत्री का पहला युगांडा दौरा है. पीएम मोदी अपनी इस यात्रा में रवांडा को २०० गायें देंगे. भारत सरकार के इस फैसले की चर्चा हो रही है. दरअसल इस फैसले के पीछे रवांडा सरकार की ओर से चलाई जा रही है एक योजना है जिसका नाम ‘गिरिंका’ है.

इस योजना के तहत सरकार वहां पर कुपोषण दूर करने के लिये ३.५० लाख गांवों को गाय देगी और फिर उसके पैदा हुई एक बछिया को वह अपने पड़ोसी को देगा. इस योजना का मकसद इन गायों के दूध से परिवार अपने बच्चों का कुपोषण दूर करेंगे साथ ही दुग्ध उद्योग को भी बढ़ावा दिया जायेगा. भारत की तरह ही रवांडा में भी गाय को समृद्धि का प्रतीक माना जाता है. रवांडा के प्राचीन इतिहास में गाय को मुद्रा की तरह प्रयोग में लाया जाता था. आपको बता दें कि भारत की तरह रवांडा भी कृषि प्रधान देश है.

यहां की ८० फीसदी खेती से जुड़ी है. रवांडा की आबादी १.१२ करोड़ है यहां की संसद में २ तिहाई महिला सांसद हैं. मोदी की ओर से गिफ्ट में जो गायें दी जाएंगी वह दरअसल भारत की ओर से राष्‍ट्रपति काग्‍मे के फ्लैगशिप ‘ग्रिरिन्‍का’ प्रोग्राम के लिए भारत की ओर से किया गया एक छोटा सा योगदान होगा.अधिकारियों की ओर से बताया गया है कि ये गायें स्‍थानीय जगहों से मगाईं जाएंगी क्योंकि वे अपने आसपास के क्षेत्र की ही आदी होंगी.ग्रिरिन्‍का, रवांडा की सरकार वह प्रोग्राम है जिसे साल २००६ में लॉन्च किया गया था.

इस प्रोग्राम के तहत ‘एक गरीब परिवार के लिए गाय’ का लक्ष्‍य रखा गया था.रवांडा की सरकार का कहना है कि यह कार्यक्रम काफी सफल हुआ है क्‍योंकि इससे करीब ३.५ लाख परिवारों को फायदा हुआ है. यह एक सामाजिक सुरक्षा स्‍कीम है जो राष्‍ट्रपति काग्‍मे की देखरेख में चलाई जा रही है. इस कार्यक्रम के तहत सबसे गरीब परिवार को दूध दे सकने वाली गायें सरकार की ओर से गिफ्ट में दी जाती हैं. अगर गाय से पहला बच्‍चा गाय ही होता है तो फिर उसे पड़ोसी को गिफ्ट में दिया जाता है ताकि समुदाय में भाईचारा और सौहार्द को बढ़ाया जा सके.

विदेश विभाग के सचिव टीएस त्रिमूर्ति ने इंडियन एक्‍सप्रेस को बताया है कि गाय, गिफ्ट में देना पीएम के कार्यक्रम का सबसे अहम तत्‍व है. ग्रिरिन्‍का का मतलब होता है, ‘गाय रखना’ और गाय को रखना रवांडा की सदियों पुरानी संस्‍कृति का सबसे अहम हिस्‍सा माना जाता है. रवांडा में एक व्‍यक्ति दूसरे व्‍यक्ति को गिफ्ट में देता है और शादियों में दहेज में भी गाय गिफ्ट में देने का चलन है.