Home देश PM मोदी ने लिया ये बड़ा फैसला,जिनपिंग की हालत हुई ख़राब

PM मोदी ने लिया ये बड़ा फैसला,जिनपिंग की हालत हुई ख़राब

SHARE

इन दिनों भारत के पंतप्रधान नरेंद्र मोदी चीन दौरे के लिए जा रहे है खबर ये है की मोदी की चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग से मुलाकात होगी. मोदी और जिनपिंग की भारत और चीन के अच्छे संबंध बनाये रखने के बारे में बातचीत हो सकती है. हालांकि इस मुलाकात से पहले मोदी जी ने एक बड़ा फैसला लिया है.

मोदी जी चीन के साथ बड़े अच्छे संबंध रखना चाहते है लेकिन जब बात देशहित की होती है तो फिर वो किसी भी तरह से समज्योता नहीं करते है. भारत के विकास के लिए मोदी जी ने अब तक कई बड़े फैसले लिए है. चीन यात्रा से पहले मोदी जी ने ऐसा ही एक फैसला लिया है जिस वजह से चीन हील गया है. दरसल बात ये है की डोमेस्टिक मार्केट ने भारत सरकार से एक शिकायत की थी इसमें उन्होंने कहा था की चीन, यूरोपियन युनिअन, कोरिया, तायबान और थायलंड से आनेवाले केमिकल की डंपिंग की वजह से भारत का बड़ा नुकसान हो रहा है. ये केमिकल पेण्ट में इस्तेमाल करते है. मोदी जी ने इसके खिलाफ ये कहा की केमिकल की डंपिंग की वजह से भारत का हो रहा नुकसान नहीं सहा जाएगा और भारत सरकार इन देशोपर एंटी डंपिंग ड्यूटी लगाएगी. कुछ ही समय पहले भी कुछ देशोंसे आने वाले ४७ स्टील उत्पादों पर भी एंटी डंपिंग ड्यूटी लगाई गयी है.

एंटी डंपिंग ड्यूटी के तहत बाहर से आनेवाले सस्ते माल के वजह से अगर किसी देश की डोमेस्टिक इंडस्ट्री को ख़तरा हो तो उस पर जांच कर के उसे बचाया जाता है. इस वजह से बाहर से आनेवाले सामान की कीमत बढ़कर घरेलु मार्केट के बराबर या उससे ज्यादा होती है इसका असर विदेशी कंपनियों पर पड़ता है. डी जी ए डी ने ये कहा है की डंपिंग को लेकर इन देशो के खिलाफ सबूत है. अब ऑथोरिटी कितना नुकसान हो रहा है ये जांच कर रही है. ये जांच अक्तुबर २०१६ से सितम्बर २०१७ के बीच के कारोभार की हो रही है. जांच हो रहा केमिकल इपोक्सी रेजिन है. ये पेंट, मरीन पेंट, इंडस्ट्रियल पेंट्स, लेमिनेट्स, सिविल इंजीनियरिंग और कंस्ट्रक्शन इंडस्ट्री में इस्तेमाल किया जाता है. इन फैसलों की द्वारा मोदी जी चीन के साथ सभी देशो को चेतावनी दी है की भारत अपने हितो की रक्षा हर हाल में करेगा.